Parts Of Computer In Hindi

आज हम Parts Of Computer In Hindi कंप्यूटर के अंगो के बारे में बताएँगे। आप सभी ने कंप्यूटर के बारे में तो सुना ही होगा। यह एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। Computer कई सारे Parts को मिला के बनता है। और हर Part का अपना एक कार्य होता है। Computer के Parts को हमने दो भागो में बाटा है:- Hardware और Software 

1. Hardware

ये वो Part (भाग) है जिसे हम देख सकते है और छू (Touch) भी सकते है। Hardware को हमने तीन भागो में बाटा है:-

  1. Main Part
  2. Input Devices
  3. Output Devices

तो आए जानते है इन Parts के बारे में एक-एक करके। 

1. Main Part (मुख्य भाग) – CPU (Central Processing Unit)

CPU कंप्यूटर का दिमाग(Brain) होता है। ये कंप्यूटर सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके बिना कंप्यूटर चल ही नहीं सकता है। इसका काम होता है User से Information लेना। उसे Process करना और User को वापस से उसका रिजल्ट देना। दूसरी भाषा में हम कहेंगे ये Input लेता है उसे Process करता है और Output दे देता है। 

2. Input Devices

Input devices

ये वो Devices होते है। जिससे User अपने दवारा Data को कंप्यूटर में डालता है। Input Devices कई सारे है। उनमे से कुछ ये है:-

  • Mouse
  • Keyboard
  • Trackball
  • Joystick
  • Optical Mark Recognition (OMR)
  • Bar Code Reader
  • Scanner
  • Microphone
  • Webcam

Mouse

ये एक छोटा सा डिवाइस है। इसकी Help से हम चीज़ो को उठा(Drag) और पटक(Drop) कर सकते है। इससे हम Files, Documents आदि को Open कर सकते है। हम Icon को एक जगह से दूसरी जगह ट्रांसफर कर सकते है। इसका एक छोटा का Pointer/Cursor हमारे Monitor पर दिखता है।    

Keyboard 

Keyboard हमें Data को Enter करने में मदद करता है। इसमें हमें कई सारे बटन्स देखने को मिलते है। इसमें हमें Alphanumeric Keys, Functions Keys, Enter, Space, Shift आदि बटन्स मिलते है। 

Trackball

Trackball एक तरह का Movable Ball होता है। जो की एक डिवाइस के ऊपर लगा होता है। और हम उसे Rotate करते है। ये डिवाइस को हम माउस और वीडियो Games को खेलने के लिए इस्तेमाल करते है।   

Joystick

ये डिवाइस भी कंप्यूटर में गेम्स(Games) को खेलने के लिए इस्तेमाल में लिया जाता है। 

Optical Mark Recognition (OMR)

इस डिवाइस को हम OMR Sheet पेपर चेक करने के लिए इस्तेमाल करते है। अगर हमारी OMR शीट में चार होल है और इनमे से हमने एक Fill कर दिया। तो ये उसे डिटेक्ट कर लेगा। ये डिवाइस एग्जाम पेपर्स को चेक करने लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Bar Code Reader

इस Device से Printed Bar Codes को Read करने के लिए इस्तेमाल में लिया जाता है। इसमें एक Laser Beam लगी होती है। जो की किसी भी Product के Bar Code को स्कैन करते ही उसे पहचान है। ये Bar Codes अलग-अलग Products पर लगे होते है। इसका ज्यादातर इस्तेमाल Shopping Malls में होता है।

Scanner

ये बहुत ही बढ़िया Device है। इससे हम किसी भी Document को जो की Paper पे प्रिंटेड है। उसे Scan कर सकते है। और अपने कंप्यूटर में स्टोर करके रख सकते है। और उस Scan करे हुए Document को हम किसी को Internet या Pendrive के जरिए दे सकते है। 

Microphone 

इसकी मदद से हम अपने Data को Voice की फॉर्म में कंप्यूटर में Store कर सकते है। 

Webcam 

Webcam भी एक Input Device है। जिसे हम Video Calling के लिए इस्तेमाल करते है। 

3. Output Devices

Input Devices के दवारा जो Data हमने कंप्यूटर में डाला है। उस Data को CPU Process करके जो रिजल्ट हमें देता है। उस रिजल्ट को हम Output Devices के जरिए देख, सुन या पढ़ पाते है। Output Devices कई सारे है। उनमे से कुछ ये है:-

  • Monitor
  • Speaker
  • Projector
  • Printer

Monitor

यह एक तरह का TV स्क्रीन होता है। इसे हम Display डिवाइस भी बोलते है। इसकी मदद से हम Data की प्रोसेसिंग, टेक्स्ट, इमेज, वीडियो आदि को देख सकते है।  

Speaker

इसकी मदद से हम आवाज़(Audio) को सुन सकते है।  

Projector

Projector की मदद से हम Output को बड़ी स्क्रीन पर दिखा सकते है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर Schools, Colleges, Seminars, Companies आदि में होता है।   

Printer

Printer हमारे Data या Document को Page पे Print करके देता है। इससे हम Soft Copy को Hard Copy में बदल सकते है। इससे हम Photos को भी Print कर सकते है।  

2. Software

ये वो Part (भाग) है जिसे हम ना तो देख सकते है और ना ही छू (Touch) सकते है। इसमें कई सारे अलग-अलग Programs होते है। जो Hardware को Instruction/Guide करते है काम करने के लिए। अगर Software नहीं होगा। तो Hardware काम नहीं कर पाएगा। Software दो प्रकार के होते है:- 

  1. System Software
  2. Application Software

1. System Software

ये वो सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर को चलाते है। इन सॉफ्टवर्स को अलग-अलग कंपनिया बनाती है। जैसे की Microsoft ने अपना Windows Operating System बनाया है। और Apple ने अपना IOS.    

2. Application Software

ये वो सॉफ्टवेयर/प्रोग्राम जो User की जरूरत(Need) को पूरा करते है। जैसे की Adobe, Excel, Word आदि आते है। 

आज आपने क्या सीखा?

आज हमने Parts Of Computer In Hindi कंप्यूटर के विभिन्न भागो के बारे में जाना है। Computer Parts में हमने Hardware, Main Part, Input Devices, Output Devices, Software के बारे में पढ़ा है। उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आएगी।

Leave a Comment